U.P. Web News
|
|
|
|
|
|
|
|
|
     
  Banking  
 
Home>News 
नोटबंदी: ग्रामीण बैंकों के प्रति प्रवर्तक बैंकों का व्यवहार दुर्भावनापूर्ण

लखनऊ, 01 दिसम्बर 2016। (उ.प्र.समाचार सेवा)। नगदी की समस्या से जूझ रहे ग्रामीण बैंकों के प्रति उनके प्रवर्तक बैंकों का व्यवहार दुर्भावनापूर्ण है। इस कारण ग्रामीण बैंकों की नेतृत्व क्षमता पर प्रश्नचिन्ह लगा है। यह बात ग्रामीण बैंक आफ आर्यावर्त अधिकारी एसोसिएशन के अध्यक्ष राकेश कुमार शुक्ल ने कही। Read More

बैंक मित्र गांव के हर आदमी तक ले जाएं बैंकिंग सेवा: चौधरी

सीतापुर(यूपीएसएस)। इलाहाबाद बैंक प्रधान कार्यालय कलकत्ता के सहायक महाप्रबंधक वित्तीय समावेशन आशु मोहन चौधरी ने स्थानीय जीके ग्रैंड में बैंक मित्रों हेतु आयोजित जागरूकता कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुए आहवान किया कि बैंक मित्रों की सशक्त व जागरूक विशाल टोली बैंक के सीतापुर मण्डल में ग्रामीण क्षेत्र में हर आदमी तक बैंकिंग सेवा पहंुचा कर भारत सरकार की जनधन योजना के व्यापक कार्यान्वयन में सक्रिय योगदान दें। Read More

Banking Fraud : निष्क्रिय खातों से निकाली जा रही रकम

लखनऊ। वर्षों से निष्क्रिय पड़े बैंक खातों से धोखाधड़ी हो रही है। जालसाज बैंक कर्मचारियों से मिलकर  खातों से रकम उड़ा रहे हैं। ऐसे ही एक मामले का खुलासा शुक्रवार को स्पेशल टास्क फोर्स ने राजधानी में किया है। यहां बैंक आफ बड़ौदा की हीवेट रोड़ शाखा से करीब 15 लाख रुपये की धोखाधड़ी के आरोप में एसटीएफ ने एक बैंक कर्मचारी समेत दो लोगों को गिरफ्तार किया है। Read More

पीएनबी में 48 लाख की निकासी के लिए लगाया फर्जी चेक
हजरतगंज,विपुल खण्ड शाखाओं से हो चुकी है फर्जी चेक से निकासी
Publised on : 2011:10:14       Time 00:15 
लखनऊ, 13 अक्टूबर। (उप्रससे)। फर्जी चेक से बैंक से लाखों रूपया निकालने वाले गिरोह के दो सदस्यों को आज राजधानी पुलिस ने दबोच लिया है। ये लोग काफी दिनों से बैंकों को चूना लगा रहे थे और फर्जी चेकों के माध्यम से खातों से लाखों रूपये उड़ा रहे थे। इस गिरोह के सदस्यों के निशाने पर पंजाब नेशनल बैंक की ब्रांचें थीं। ये हजरतगंज की ब्रांच से पहले एक लाख रूपये उड़ा चुके थे। जबकि आज गोमती नगर ब्रांच इनके निशाने पर थी। किन्तु पुलिस और बैंक स्टाफ की सक्रियता से ये पकड़ लिये गए।
प्रदेश की राजधानी आजकल ठगों और जालसाजों के लिए आसान जगह हो गई है। ये ठग गिरोह बनाकर अपने मंसूबों को अंजाम दे रहे हैं। इनके निशाने पर अब राजधानी के नामी गिरामी बैंक हैं। जालसाजी का एक ऐसा वाकया कल यहां पकड़ में आया जिससे बैंक स्टाफ और पुलिस दोनों हैरान रह गए। मामला था पंजाब नेशनल बैंक की विवेक खण्ड, गोमती नगर शाखा में फर्जी चेक लगाकर 48 लाख की नकदी निकालने का। किन्तु नकदी निकल पाती इससे पहले ही ठग बैंक स्टाफ की नजर में चढ गए और स्ठाफ ने पुलिस बुलाकर उन्हें हवालात भिजवा दिया। ये जालसाज कई बैंकों को इस तरह से चूना लगा चुके थे। पुलिस ने जालसाजी में प्रदीप कुमार मिश्रा उर्फ संजय मिश्रा उर्फ शोभनाथ झा व सुरजीत सिंह को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार अभियुक्तों के कब्जे से 28 हजार रूपये नकद व 48 लाख रूपये का फर्जी चेक बरामद हुआ ।
गोमती नगर पुलिस के अनुसार पूछताछ पर अभियुक्तों ने अपने तीन अन्य साथियों के नाम बताये हैं और यह भी बताया है कि उनके द्वारा ही फर्जी चेक दिया जाता था । पैसा निकल जाने पर उन्हें 20 प्रतिशत कमीशन इन्हें दिया जाता था । गिरोह के सदस्यों ने बताया कि वे इससे पहले पंजाब नेशनल बैंक एम.जी. मार्ग हजरतगंज से 99 हजार रूपये, पंजाब नेशनल बैंक हजरतगंज की दूसरी शाखा से 98 हजार रूपये व पंजाब नेशनल बैंक विपुल खण्ड गोमतीनगर की शाखा से एक लाख रूपये फर्जी चेक के माध्यम से निकाले जा चुके हैं । इस संबंध में थाना गोमतीनगर पर धारा 420467468471 511120बी भादवि का अभियोग पंजीकृत कर जेल भेजा गया है। गिरफ्तार अभियुक्तों में प्रदीप कुमार मिश्रा उर्फ संजय मिश्रा उर्फ शोभनाथ झा निवासी मो0 अहमद खॉ मण्डी थाना कोतवाली जौनपुर हाल पता 5677 विरामखण्ड गोमतीनगर लखनऊ तथा सुरजीत सिंह निवासी टीपी 272डी, प्रीतमपुरा थाना मौर्य इन्क्लेव नई दिल्ली का निवासी है।
पीएनबी मैनेजर समेत तीन के खिलाफ 5.78 करोड़ गबन की रिपोर्ट

tags: Punjab National Bank PNB Colonelganj, Allahabad, Branch Maneger Satyadev (Rtd), District Rural Devlopment Authority DRDA, fraud 5.78 crore

Source: U.P.Samachar Sewa, www.upwebnews.com

Publised on : 2011-04-23      Time 11:25 ,             Last updat on: 2011-04-23      Time 11:25 ,


इलाहाबाद, 23 अप्रैल। (उप्रससे)। ग्रामीण विकास अधिकारियों के साथ मिलकर धोखाधड़ी करने तथा पांच करोड़ रू पये से अधिक की अवैध निकासी के मामले में पंजाब नेशनल बैंक के शाखा प्रबंधक समेत तीन लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करायी गई है। शाखा प्रबंधक अब रिटायर्ड हो चुके हैं। जबकि इस मामले में जिला पंचायत राज अधिकारी को दोषी मानते हुए निलंबन की संस्तुति की जा रही है।
जिला प्रशासन ने थाना कर्नलगंज में रिपोर्ट दर्ज कराकर जिला ग्राम्य विकास अभिकरण के क्लर्क ब्रजेश सिंह, ट्रेजरी आफिसर विनय कुमार श्रीवास्तव और पीएनबी के तत्कालीन शाखा प्रबंधक सत्यदेव के खिलाफ 5 करोड़ 78 लाख के गबन की रिपोर्ट दर्ज करायी है। आरोप है कि डीआरडीए के कर्मचारियों ने सरकारी धन का दुरुपयोग किया। जिलाधिकारी आलोक कुमार ने यहां संवाददाताओं को बताया कि राय सरकार ने 12 वें वित्त आयोग की रिपोर्ट के अनुसार वर्ष 2009-2010 में जिला विकास अभिकरण को पंचायती संस्थाओं के विकास और कार्यों के लिए 21 करोड़ रूपये आबंटित किये थे। इस धनराशि में से 5.78 करोड के व्यय के बाउचर और स्वीकृति आदि का कुछ पता नहीं चला है। उक्त धनराशि का दुरुपयोग हुआ है। सरकारी धन के दुरुपयोग की जानकारी आडिट रिपोर्ट से पता चली तो मामले की जांच करायी गई। जांच में दोषी पाये जाने पर दो विभागीय कर्मचारियों और एक पीएनबी शाखा प्रबंधक के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करा दी गई है। हालाकि शाखा प्रबंधक अब सेवानिवृत्त हो चुके हैं। जिलाधिकारी ने बताया कि जिला पंचायत राज अधिकारी ओमप्रकाश श्रीवास्तव के निलंबन के लिए शासन को संस्तुति की गई है। क्योंकि इस मामले में उनकी भी लापरवाही उजागर हुई है।
  

Comments on this News & Article: upsamacharsewa@gmail.com   up_samachar@sify.com

 
 
   
 
 
                               
 
»
Home  
»
About Us  
»
Matermony  
»
Tour & Travels  
»
Contact Us  
 
»
News & Current Affairs  
»
Career  
»
Arts Gallery  
»
Books  
»
Feedback  
 
»
Sports  
»
Find Job  
»
Astrology  
»
Shopping  
»
News Letter  
up-webnews | Best viewed in 1024*768 pixel resolution with IE 6.0 or above. | Disclaimer | Powered by : omni-NET