U.P. Web News
|
|
|
|
|
|
|
|
|
     
  Co-operative  
 

 Last update:  2010-11-21.  Time 10:05 IST

खाद्यान्न सुरक्षा में सहकारिता की अहम् भूमिका-अयोध्या प्रसाद पाल

पैकफेड के तत्वावधान में 57वें अखिल भारतीय सहकारी सप्ताह का समापन

लखनऊ, 20 नवम्बर । (उप्रससे)। बढती जनसंख्या के लिए खाद्यान्न मामले में आत्म निर्भर होने के लिए सहकारिता को और मजबूत करना होगा। एक आन्दोलन के रूप में इसे आम लोगों के बीच व्यापक रूप से प्रचारित करना होगा। न्याय पंचायत स्तर पर समितियों के माध्यम से ज्यादा से ज्यादा किसानों को खाद बीज एवं अन्य कृषि निवेश समय से उचित मूल्य पर उपलब्ध कराने होंगे। सहकारी समितियों के सदस्यों को अधिकार एवं कर्तव्य के बारे में पूरी जानकारी करायी जाय। यह बात 57वें अखिल भारतीय सहकारी सप्ताह के समापन अवसर पर ''खाद्यान्नों की सुरक्षा में सहकारिताओं का योगदान'' विषयक गोष्ठी में बोलते  हुए मुख्य अतिथि राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) युवा कल्याण एवं खेल-कूद अयोध्या प्रसाद पाल ने  अपने सम्बोधन में कही। उन्होंने कहा कि सहकारी गोष्ठियों का आयोजन ग्राम पंचायत स्तर तक किया जाय। उन्होंने कहा कि सहकारी संस्थाएं अपनी कार्य संस्कृति में बदलाव लाकर गांव एवं किसान की उन्नति में सहायक हो सकती है।

        श्री पाल ने कहा कि उ0प्र0 विधायन एवं निर्माण सहकारी संघ लि0 (पैकफेड) को हमारी सरकार ने अब गैर मानकीकृत 2.5 करोड़ रूपये तथा मानकीकृत 10 करोड़ रूपये के कार्य करने के स्थान पर असीमित धनराशि के निर्माण कार्य करने के लिए अधिकृत कर दिया है। प्रदेश में खेल के विकास के लिए कराये जा रहे कार्यों में पैकफेड का पूरा सहयोग लिया जायेगा। यदि सहकारिता के लोग सहयोग करें तो प्रदेश के कोने-कोने से और ज्यादा अच्छे खिलाडी निकलेंगे। उन्होंने पैकफेड द्वारा बाबू के0डी0सिंह स्टेडियम में बनाई गयी डारमेट्री के कार्य की प्रसंशा भी की।

पैकफेड के अध्यक्ष राकेश कुमार मौर्य ने कहा कि सहकारिता के माध्यम से पूरी तरह लोक कल्याणकारी राज्य की स्थापना की जा सकती है। उन्होंने कहा कि पैकफेड अपने कार्यों में समयबध्दता एवं गुणवत्ता का पूरा ध्यान रखेगी। पी0सी0एफ0 के प्रबन्ध निदेशक रामबोध मौर्य ने कहा कि सहकारी समितियों पर पर्याप्त मात्रा में उर्वरक एवं बीज उपलब्ध है। विगत वित्तीय वर्ष में पी0सी0एफ0 ने तीन हजार करोड़ रूपये का व्यवसाय किया है। उन्होंने कहा कि यदि प्रत्येक ग्राम पंचायत में खाद एवं बीज की एक सहकारी दुकान हो जाय तो किसानों को बहुत सहूलियत हो जायेगी।

        प्रबन्ध निदेशक पैकफेड वी0के0चौधरी ने कहा कि विगत वित्तीय वर्ष में संस्था  ने 330 करोड़ रूपये का निर्माण कार्य किया और इस वर्ष 500 करोड़ रूपये के  कार्य कराये जायेंगे। पैकफेड का अपना कार्यालय भवन गोमतीनगर विस्तार में शीघ्र बनेगा। पूर्व अपर निबन्धक आर0एन0उपाध्याय ने कहा कि खाद्यान्न बढोत्तरी के तीन प्रतिशत प्रति वर्ष के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए गम्भीर  प्रयास करने होंगे। साठ के दशक में अन्न संकट से जिस हरित ांति ने हमे खाद्यान्न में आत्म निर्भर बनाया, आज बढती जनसंख्या के कारण फिर हम उसी  स्थित की ओर जा रहे हैं। सहकारी संस्थाओं के सुदृढ़ीकरण तथा कृषि निवेश में वृध्दि से हम खाद्यान्न मामले में सुरक्षित हो सकते हैं।

        प्रबन्ध निदेशक वी0पी0सिंह ने सहकारी सप्ताह प्रदर्शनी में पुरस्कारों की घोषणा की। प्रथम स्थान पैकफेड को,  द्वितीय स्थान भण्डारण निगम तथा तृतीय स्थान श्रम निर्माण संघ को मिला, जब कि सांत्वना पुरस्कार पी0सी0यू0 के नाम रहा। इस अवसर पर अपर निबंधक द्वय  अनिल राजकुमार, शैलेन्द्र सक्सेना तथा सभी सहकारी संस्थाओं के प्रबन्ध निदेशक, सहित अधिकारी, कर्मचारी एवं समितियों के प्रतिनिधिगण उपस्थित थे।

 

 

 

 

 
 
   
 
 
                               
 
»
Home  
»
About Us  
»
Matermony  
»
Tour & Travels  
»
Contact Us  
 
»
News & Current Affairs  
»
Career  
»
Arts Gallery  
»
Books  
»
Feedback  
 
»
Sports  
»
Find Job  
»
Astrology  
»
Shopping  
»
News Letter  
up-webnews | Best viewed in 1024*768 pixel resolution with IE 6.0 or above. | Disclaimer | Powered by : omni-NET