|
|
|
|
|
|
|
|
|
     
  News  
 
करेंट लगने से जनसेवा केंद्र संचालक की दर्दनाक मौत
Tags: Shahjahanpur News
Publised on : 2020:11:20      Time 20:58   Last  Update on  : 2020:11:20       Time 20:58

शाहजहांपुर, 20 नवम्बर 2020 ( उ.प्र.समाचार सेवा)।  थाना खुटार क्षेत्र में नहाते समय बिजली के नंगे तार की चपेट में आ जाने से जनसेवा केंद्र के संचालक की करेंट लगने से दर्दनाक मौत हो गई। घटना के बाद पूरे घर में कोहराम मच गया। आनन-फानन में युवक को सामुदायिक स्वास्थ्य ले जाया गया। जहां चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया।
थाना खुटार क्षेत्र के पूर्वी गढ़ी मोहल्ले में बबलू मिश्रा अपनी पत्नी अनीता, बेटे प्रशांत, पुत्रवधू पूजा, पौत्र और बेटी के साथ रहते हैं। बबलू खेतीपाती करते हैं। इकलौता बेटा प्रशांत मिश्र घर के बाहर दुकान में जनसेवा केंद्र चलाता था। शुक्रवार सुबह प्रशांत बाथरूम से नहा कर निकला। उसका शरीर भीगा था। तभी वह बिजली के बोर्ड में तार लगाने लगा। इस दौरान उसे करंट लग गया और जमीन पर गिर पड़ा। चीख सुनकर परिवार के सदस्यों ने किसी तरह से तार को अलग किया। प्रशांत को डाक्टर के यहां ले जाया गया, लेकिन डाक्टर ने प्रशांत को मृत घोषित कर दिया। प्रशांत की मौत से परिवार में कोहराम मच गया। मोहल्ले के लोग भी काफी दुखी हैं। करीब सवा साल पहले ही प्रशांत का विवाह पीलीभीत जिले की पूरनपुर तहसील के गांव जल्लूपुर की पूजा से हुई थी। प्रशांत के दो माह का बेटा भी है। प्रशांत की एक छोटी बहन भी है। इकलौते बेटे की मौत से बबलू मिश्रा बुरी टूट गए, पूरे घर में चीख पुकार का मची हुई है।
जैविक खेती को बढ़ावा व गुणवत्ता युक्त उत्पादों का उत्पादन किया जाए-डीएम
शाहजहांपुर। प्रमोशन आॅफ एग्रीकल्चर मैकेनाइजेशन फार इन-सीटू मैनजमेंट आॅफ क्राप रेजीड्यू योजनान्तर्गत फसल अवशेष प्रबन्धन हेतु जन जागरूकता के उद्ेष्य से कार्यक्रम का आयोजन गन्ना शोध संस्थान में किया गया। कार्यक्रम का शुभारम्भ जिलाधिकारी इन्द्र विक्रम सिंह तथा पुलिस अधीक्षक एस आनन्द ने मां सरस्वती की प्रतिमा पर दीप प्रजज्वलित कर किया।
इस अवसर पर जिलाधिकारी ने कहा कि जैविक खेती को बढ़ावा दिया जाए, गुणवत्ता युक्त उत्पादो का उत्पादन किया जाए तथा उत्पन्न उत्पाद की एफपीओ के माध्यम से कैसे मार्केटिंग की जाए। जिससे उपज का अच्छा मूल्य प्राप्त हो। एसपी ने कहा कि किसी भी दशा में पराली को न जलायें। पराली जलाने पर अर्थदण्ड के साथ-साथ सजा का भी प्राविधान है, ऐसी अप्रत्याशित स्थिति से बचा जाए। जिला कृषि रक्षा अधिकारी ने कहा कि पराली प्रबन्धन कर वातावरण को स्वच्छ रखने मे सहभागी बने, जैविक खेती को भी अपनाये, हरी खाद का प्रयोग करें। मुख्य विकास अधिकारी ने कहा कि किसान पराली को आग लगा देता है। जिससे वातावरण में प्रदूषण बढ़ता है। ऐसी स्थिति से बचें और कृषि यंत्रों का उपयोग कर पर्यावरण को स्वच्छ रखें। उप कृषि निदेषक ने कहा कि विभिन्न योजना के अन्तर्गत टोकन व्यवस्था के माध्यम से यंत्र वितरित किए जा रहे है। जनपद मे संचालित सीडीपी योजनान्तर्गत सब्जी की खेती करने वाले किसानों को एक एकड़ के सब्जी के बीजों की निःशुल्क मिनीकिट उपलब्ध कराई जाएगी। कृषि विज्ञान केन्द्र वैज्ञानिक डा. सीपी गुप्ता ने कृषकों को आधुनिक कृषि यंत्र तकनीक का पराली प्रबन्धन मे कैसे प्रयोग किया जाए। उसके बारे में विस्तार से बताया। डा. एसके वर्मा ने पराली जलाने से भूमि को होने वाले नुकसान के बारे बताया। डा. नूतन वर्मा द्वारा फसलों मे कीट प्रबन्धन के बारे मे वार्ता की और बताया कि पराली से कम्पोस्ट बनाकर तथा निःशुल्क वितरित किये जा रहे हैं। कार्यक्रम में जनपद के समस्त विकासखंडो से कई कृषकों के द्वारा प्रतिभाग किया गया।
डीएम की अध्यक्षता में मतदान क्रमिक प्रशिक्षण का हुआ आयोजन
शाहजहांपुर। बरेली-मुरादाबाद खण्ड शिक्षा निर्वाचन-2020 के तहत जोनल/सेक्टर मजिस्ट्रेटों तथा मतदान कर्मिकों का प्रशिक्षण गांधी भवन सभागार में जिला निर्वाचन अधिकारी इन्द्र विक्रम सिंह की अध्यक्षता में आयोजित किया गया।
इस अवसर पर जिलाधिकारी ने कहा कि बरेली-मुरादाबाद खण्ड शिक्षा निर्वाचन-2020 का मतदान 01 दिसम्बर 2020 को होना प्रस्तावित है। उक्त मतदान हेतु 30 नवम्बर 2020 को मतदान कराने हेतु पोलिंग बूथ के लिए निर्चाचन कार्यालय से फोर्स के साथ पार्टियां रवाना की जाएंगी। निर्वाचन हेतु 10 सेक्टर मजिस्ट्रेट एवं 06 जोनल मजिस्ट्रेट तथा 20 कर्मिकों की टीमें बनाई गयी है। चुनाव हेतु केन्द्र सरकार द्वारा 10 माइक्रो आॅब्र्जवर भी लगाए गए हैं।
उन्होंने प्रषिक्षण में बताया कि शिक्षक निर्वाचन की दशा में मतदाता की बायें हाथ की बीच की अंगुली (मध्यमा) का यह देखने के लिये निरीक्षण करेगा कि उस पर पहले से कोई अमिट स्याही का चिन्ह तो नही हैं। बताया कि निर्वाचन अपना मत देते हुये अपने मतपत्र पर उस अभ्यर्थी के नाम के सामने वाले रिक्त स्थान में, जिसके लिये वह प्रथमतः मत देना चाहता है, अंक 1 अंकित करेगा और इसके अतिरिक्त अपने मतपत्र पर अन्य अभ्यर्थीयों के नामों के सामने वाले रिक्त स्थान में अपने अधिमान के अनुसार अंक 2 या अंक 2,3 और 4 और इसी भंति आगे भी अंक अंकित करेगा। उपरिवर्णित अंक भारतीय भाषा में प्रयुक्त रूप में अंकित किये जा सकेगें। उन्होंने बताया है कि मतपत्र पर अधिमान उन्हे दी गयी सामग्री से ही अभिलिखित किया जाना चाहिए अन्यथा उक्त नियम के अनुसार मतपत्र रदद् हो जायेगी। इस प्रयोजन हेतु आपको बैगनी रंग का स्कैच पेन दिया जायेगा। अपना मत अभिलिखित करने के बाद निर्वाचन अपने मतपत्र को इस प्रकार मोड़ लेगा कि उसका मत छिप जाए किन्तु सुभिन्नक चिन्ह दिखाई पड़ता रहें। मतदान कक्ष के बाहर आ जाने पर मतदाता पीठासीन अधिकारी को मतपत्र पर लगा सुभिन्नक चिन्ह दिखायेगा और इसके बाद वह मुड़ा हुआ मतपत्र मतपेटी में डाल देगा और मतदान केन्द्र से बाहर जायेगा। उन्होंने बताया कि 01 दिसम्बर, 2020 को होने वाले मतदान में प्रतिरूपण को रोकने की दृष्टि से मतदान के समय ऐसे मतदाता फोटो पहचान पत्र जारी किये गये हैं। मत देने से पूर्व अपना मतदाता फोटो पहचान पत्र प्रस्तुत करना होगा।
इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी प्रशासन राम सेवक द्विवेदी, जिला विकास अधिकारी सतीश मिश्रा, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी राकेश कुमार आदि अधिकारी मौजूद रहे।

 
 
   
 
 
 
                               
 
»
Home  
»
About Us  
»
Matermony  
»
Tour & Travels  
»
Contact Us  
 
»
News & Current Affairs  
»
Career  
»
Arts Gallery  
»
Books  
»
Feedback  
 
»
Sports  
»
Find Job  
»
Astrology  
»
Shopping  
»
News Letter  
up-webnews | Best viewed in 1024*768 pixel resolution with IE 6.0 or above. | Disclaimer | Powered by : omni-NET