|
|
|
|
|
|
|
|
|
     
  News  
 
धान क्रय केन्द्र का जिलाधिकारी ने किया निरीक्षण
डीएम ने सुनीं किसानों की समस्याएं, दिये समाधान के निर्देश
Tags: Mirzapur  News
Publised on : 2020:11:17      Time 20:14    Last  Update on  : 2020:11:17      Time 20:14

मिर्जापुर, 17 नवम्बर 2020 ( उ.प्र.समाचार सेवा)। सम्पूर्ण समाधान दिवस के बाद जिलाधिकारी सुशील कुमार पटेल व पुलिस अधीक्षक के द्वारा कोटवा पाण्डेय के साधन सहकारी समिति पर धान क्रय केन्द्र का औचक निरीक्षण किया गया, जहां पर केन्द्र र्पीारी संज्ञा पाण्डेय उपस्थित मिली परन्तु मौके पर किसी किसान का धान क्रय नहीं किया जा रहा था, केन्द्र प्रभारी को किसानों के धान को प्राथमकता पर क्रय करने का निर्देश दिया गया कहा कि किसी भी स्तर पर लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जोयगी। इस अवसर पर उपस्थित किसानों से भी वार्ता की गयी।

सम्पूर्ण समाधान दिवस मड़िहान में जिलाधिकारी द्वारा लोगों की सुनी गयी समस्यायें
मीरजापुर। जिलाधिकारी सुशील कुमार पटेल व पुलिस अधीक्षक अजय कुमार सिंह द्वारा मडिहान तहसील में आयोजित सम्पूर्ण समाधान दिवस में उपस्थित होकर आये हुये फरियादियों की समस्याओं को भी सुना गया तथा त्वरित निस्तारण के निर्देश सम्बंधित अधिकारियों को दिया गया। तहसील दिवस में जमीन कब्जा से सम्बंधित अधिक मामले आये जिनका प्राथमिकता पर निस्तारण करने का निर्देश दिया गया। जिलाधिकारी द्वारा अधिकारियों को पराली जलाने पर प्रभावी रोक लगाने के भी निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि किसानों व ग्रामीणों को पराली न जलाने के हेतु जागरूक किया जाये। फरियादी भगवान दास के द्वारा जमुर्द धान क्रय केन्द्र पर केन्द्र प्रभारी के द्वारा बोरा न होने का बहाना बताकर धान क्रय करने से मना करने की शिकायत पर जिलाधिकारी द्वारा तत्काल डिप्टी आरएमओ से वार्ता कर बोरा पहुंचाने का निर्देश देते हुये किसान का धान क्रय करने हेतु निर्देशित किया गया। तहसील दिवस में आवास व पेंशन के भी कई मामले आये। स्वास्थ्य विभाग का कोई अधिकारी मौजूद न होने पर कडी नाराजगी व्यक्त करते हुये कहा गया कि आगे से ऐसी पुनरावृत्ति होने पर कडी कार्यवाही की जायेगी। इस अवसर पर उप जिलाधिकारी रोशनी यादव, तहसीलदार नूपुर सिंह के अलावा अन्य सम्बंधित अधिकारी उपस्थित रहे।
जल जीवन मिशन के तहत जनपद के प्रत्येक घर को मिलेगा शुद्ध पेयजल
* कलेक्ट्रेट सभागार में जिलाधिकारी के साथ जल जीवन मिशन के निदेशक ने बैठक कर कार्ययोजना की दी जानकारी
मीरजापुर। जिलाधिकारी सुशील कुमार पटेल की अध्यक्षता में मंगलवार को कलेक्ट्रेट सभागार में जल जीवन मिशन नई दिल्ली के निर्देशक प्रदीप सिंह एवं लखनऊ से आये अधिकारियों ने बैठक कर योजना के बारे में जानकारी दी। इस अवसर पर कहा कि निदेशक जल जीवन मिशन ने बताया कि जल जीवन मिशन के अन्तर्गत पानी के स्रोतों का विकास, उनका पुनः भरण और उनको लम्बे समय तक जलयुक्त बनाये रखने पर इस योजना का मुख्य उद्देश्य है। उन्होंने कहा कि इसी जिम्मेदारी भी स्थानीय लोगों विशेष रूप से महिलाओं, ग्राम पंचायतों या ग्राम जल एवं स्वच्छता समितियों को ही दी जायेगी। बताया कि हर जनपद के प्रत्येक घरों को नल पाइप पेयजल योजना के अन्तर्गत उपलब्ध कराया जायेयगा उन्होंने बताया कि हर घर में नल द्वारा सही मात्रा में स्वच्छ पानी उपलब्ध हो, योजना का उद्देश्य है। जल जीवन मिश्ज्ञन- हर घर को जल का उद्देश्य ही सभी घरों में पेयजल की व्यवथा के साथ-साथ स्कूल, आंगनवाडी, स्वास्थ्य एवं आरोग्यता केन्द्र, सामुदायिक केन्द्र एवं शाचलाय परिसरों में पेयजल उपलब्ध कराना है। जो जल जीवन मिशन के अन्तर्गत ग्राम पंचायतों को विपेज एकक्शन प्लान बनाने उसके कार्यान्वयन और रख रखाव की जिम्मेदारी सौपी जायेगी। उन्होंने 31 मार्च 2024 तक प्रदेश के हर घर नल उपलब्ध कराया जायेगा। इसी के तहत जनपद मीरजापुर 809 ग्राम पंचायतों में हर घर को नल से पानी की आपूर्ति करायी जायेगी। यह भी बताया कि आगामी 31 दिसम्बर 2020 तक जनपद के प्रत्येक आंगनवाडी केन्द्रों, पंचायत भवनों, प्राथमिक व जूनियर स्कूलों में पाइप पेयजल योजना के माध्यम से शुद्ध पेयजल उपलब्ध करा दिया जायेगा। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने कि जनपद में लगभग तीन लाख 70 हजार हाउस होल्ड के सापेक्ष 14 हजार घरों में कनेक्शन किया गया है। इस अवसर पर पानी की गुणवत्ता की जांच के बारे में जानकारी देते हुये बताया गया कि प्रत्येक गांव में कम से कम पंच-पांच सदस्यों को पानी की गुणवत्ता की जांच के लिये प्रशिक्षित किया जायेगा तथा टैस्टिंग किट भी उपलब्ध कराया जायेगा। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी अविनाश सिंह के अलावा अन्य सभी सम्बंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

मुख्यमंत्री के मीरजापुर जनपद में सम्भावित आगमन को लेकर जिलाधिकारी ने तैयारियों का लिया जायजा
चुनार, मीरजापुर। आगामी 21 नवम्बर, 2020 को मुख्यमंत्री के जनपद में सम्भावित आगमन को लेकर मंगलवार को जिलाधिकारी सुशील कुमार पटेल, पुलिस अधीक्षक अजय कुमार सिंह, अपर जिलाधिकारी यूपी सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक डा. संजय कुमार एवं अपर पुलिस अधीक्षक नक्सल व अन्य अधिकारियों के साथ तैयारियों का जायजा लिया गया। चुनार तहसील अन्तर्गत ग्राम भौहां में जल निगम के द्वारा प्रस्तावित 25 वर्ग मीटर यानी आठ बीघा के एरिया में एवं 25 पीएसआर तथा 11 सीडब्लूआर शुद्ध पेयजल आपूर्ति वाले प्रस्तावित वाटर ट्रीटमेंट प्लांट का शिलान्यास मुख्यमंत्री द्वारा किया जायेगा। जिसका जिलाधिकारी व अन्य अधिकारियों के द्वारा मौके पर निरीक्षण किया गया। उक्त र्काक्रम में प्रधानमंत्री भरत सरकार के द्वारा वर्चुअल के माध्यम से जनता को सम्बोधित किये जाने की सम्भावना व्यक्त की जा रही है। भौहा में प्रस्ताव वाटर ट्रीटमेंट प्लान के बन जाने से विकास खण्ड राजगढ एंव विकास खण्ड नरायनपुर के 236 गांव में शुद्ध पेयजल की आपूर्ति हो सकेगी। जिलाधिकारी के साथ जल निगम विभाग लखनऊ से आये मिशन निदेशक, अधीक्षण अभियन्ता जल निगम के अलावा कुल 7 अधिकारी भी उपस्थित रहे। जिनके द्वारा यही रूकर कर तैयारियों करायी जायेगी। जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक के द्वारा परमहंस बाबा अड़गडानन्द आश्रम के लगभग एक किलोमीटर जनसभा स्थल का निरीक्षण किया गया। जहां पर तैयारियो के लिये लोक निर्माण विभाग, जिला पंचायत राज अधिकारी, अधिशासी अभियन्ता जल निगम, सम्बंधित उप जिलाधिकारी व अन्य अधिकारियों को जिलाधिकारी द्वारा निर्देशित किया गया। जिलाधिकारी द्वारा सभी अधिकारियों को आज से तैयारियों में लगने का निर्देश दिया। तदुपरान्त जिलाधिकारी द्वारा अड़गडानन्द आश्रम में भी जाकर हेलीपैड का निरीक्षण किया गया तथा जनसभा स्थल के कुछ दूरी पर भी हेलीपैड बनाने का निरीक्षण कर लखनऊ भेजा गया। इस अवसर पर जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक तथा अन्य अधिकारियों के द्वारा बाबा अड़गडानन्द महराज का दर्शन भी किया गया।

 
 
   
 
 
 
                               
 
»
Home  
»
About Us  
»
Matermony  
»
Tour & Travels  
»
Contact Us  
 
»
News & Current Affairs  
»
Career  
»
Arts Gallery  
»
Books  
»
Feedback  
 
»
Sports  
»
Find Job  
»
Astrology  
»
Shopping  
»
News Letter  
up-webnews | Best viewed in 1024*768 pixel resolution with IE 6.0 or above. | Disclaimer | Powered by : omni-NET