|
|
|
|
|
|
|
|
|
     
  News  
 

घट रहे हैं प्रदेश में एक्टिव केस, रिकवरी रेट में भी सुधारःयोगी

  • - प्रदेश में पिछले 24 घण्टों में 2,99,327 कोविड टेस्ट किए गए, जो कि एक दिन में सम्पन्न कोरोना जांच की अब तक की सर्वाधिक संख्या, इसमें 2,19,000 टेस्ट प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में किये गए
    - ग्रामीण क्षेत्र में वैक्सीनेशन कार्य को त्वरित और प्रभावी ढंग से संचालित करने के लिए कॉमन सर्विस सेण्टर (सी0एस0सी0) का व्यापक उपयोग किया जाए

Tags: #U.P Samachar Sewa ,
Publised on : 19:05:2021      Time 20:11

लखनऊ, 19 मई, 2021 ( उ.प्र.समाचार सेवा)। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि प्रदेश में कोविड संक्रमण के मामलों में तेजी से कमी आ रही है। पॉजिटिविटी दर निरन्तर घट रही है। रिकवरी दर में लगातार वृद्धि हो रही है। उन्होंने कोरोना संक्रमण पर नियंत्रण के लिए किये जा रहे प्रयासों को पूरी प्रतिबद्धता से जारी रखने के निर्देश दिये हैं। मुख्यमंत्री आज यहां वर्चुअल माध्यम से आहूत एक उच्च स्तरीय बैठक में प्रदेश में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा कर रहे थे।
बैठक में मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया कि विगत 24 घण्टों में प्रदेश में कोरोना संक्रमण के 7,336 केस आए हैं। इसी अवधि में 19,669 संक्रमित व्यक्तियों का सफल उपचार करके डिस्चार्ज किया गया है। प्रदेश में वर्तमान में कुल एक्टिव केस की संख्या 1,23,579 है, जो 30 अप्रैल, 2021 को कोरोना संक्रमण के एक्टिव केस की संख्या से 1,87,000 कम है। यह कमी 60 प्रतिशत से अधिक है। मुख्यमंत्री को यह भी अवगत कराया गया कि राज्य में कोरोना संक्रमण की रिकवरी दर में लगातार वृद्धि हो रही है। वर्तमान में यह दर 91.4 प्रतिशत से अधिक है। प्रदेश में कोरोना संक्रमण की पॉजिटिविटी दर लगातार कम हो रही है। कोरोना संक्रमण में राज्य का कुल पॉजिटिविटी रेट 3.6 प्रतिशत है। पिछले 24 घण्टे में यह दर 2.45 प्रतिशत रही है। प्रदेश में पिछले 24 घण्टों में 2,99,327 कोविड टेस्ट किए गए, जो कि एक दिन में सम्पन्न कोरोना जांच की अब तक की सर्वाधिक संख्या है। इसमें 2,19,000 टेस्ट प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में किये गए। विगत 24 घण्टों में की गयी कोविड जांच में 1,22,172 आर0टी0पी0सी0आर0 टेस्ट भी शामिल है। प्रदेश में अब तक 4,55,31,018 कोविड टेस्ट किए जा चुके हैं।
मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये हैं कि सभी डेडिकेटेड कोविड अस्पतालों में पोस्ट कोविड वाॅर्ड तैयार किये जाएं। इन वार्डों में आवश्यक दवाओं सहित भोजन, साफ-सफाई की समुचित व्यवस्था भी रहे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी मेडिकल कॉलेजों एवं अस्पतालों को उनकी मांग के अनुरूप पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन की आपूर्ति बनी रहनी चाहिए। मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया कि विगत 24 घण्टों में राज्य में 921 मेट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति की गई है। विगत कुछ दिनों में ऑक्सीजन की मांग में 10 से 15 प्रतिशत की कमी आई है। मेडिकल कॉलेजों में लगभग 2 दिन का ऑक्सीजन बैकअप उपलब्ध है। होम आइसोलेशन के मरीजों को भी ऑन डिमाण्ड ऑक्सीजन की उपलब्धता है।
श्री आदित्यनाथ ने कोरोना वैक्सीन की कार्यवाही व्यवस्थित, निर्बाध और प्रभावी ढंग से संचालित की जाए। जीरो वेस्टेज को ध्यान में रखकर कोविड वैक्सीनेशन कार्यवाही का संचालन किया जाए। वैक्सीनेशन कार्य को व्यापक स्तर पर संचालित किए जाने पर बल देते हुए उन्होंने कहा कि 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग में वैक्सीनेशन के लिए लोगों को प्रेरित किया जाए। ग्रामीण क्षेत्र में वैक्सीनेशन कार्य को त्वरित और प्रभावी ढंग से संचालित करने के लिए कॉमन सर्विस सेण्टर (सी0एस0सी0) का व्यापक उपयोग किया जाए। मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया कि सभी सी0एस0सी0 पर वैक्सीनेशन हेतु रजिस्ट्रेशन कार्य प्रारम्भ हो गया है। यह भी अवगत कराया गया कि 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग में अब तक 01 करोड़ 54 लाख 61 हजार से अधिक वैक्सीन डोज दिए जा चुके हैं। 17 मई, 2021 से 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के लोगों के कोरोना वैक्सीनेशन का कार्य 23 जनपदों में किया जा रहा है। विगत दिवस इस आयु वर्ग में वैक्सीन की 1,11,188 डोज दी गई हैं। अब तक इस आयु वर्ग में 6 लाख 38 हजार 746 वैक्सीन की डोज दी गयी हैं।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोरोना कफ्र्यू का प्रभावी ढंग से पालन कराया जाए। यह सुनिश्चित किया जाए कि घर से बाहर निकलने वाले लोग मास्क का इस्तेमाल और दो-गज की दूरी का पालन करें। सब्जी मण्डी एवं फल मण्डी का संचालन खुले स्थानों पर कराया जाए। दवा की दुकानों पर भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराया जाए। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि सभी गेहूं क्रय केन्द्र कार्यशील रहे। गेहूं क्रय केन्द्रों का प्रभावी ढंग से और सुचारू संचालन हो। कल 20 मई 2021 से प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के अन्तर्गत पात्र व्यक्तियों के लिए खाद्यान्न वितरण कार्य प्रारम्भ हो रहा है। कोविड प्रोटोकाॅल के पूर्ण पालन के साथ सुचारु ढंग से खाद्यान्न वितरित किया जाए। स्थानीय जनप्रतिनिधियों से संवाद बनाकर उन्हें खाद्यान्न वितरण के समय राशन की दुकानों का भ्रमण करने के लिए आमंत्रित किया जाए।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 के कारण जिन बच्चों के माता-पिता का देहान्त हो गया, ऐसे अनाथ एवं निराश्रित बच्चों के भरण-पोषण और समुचित देखभाल के लिए महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा विस्तृत कार्य योजना तैयार की जाए। किसी भी शिक्षण संस्थान द्वारा यदि विद्यार्थियों से शुल्क लिया गया है तो शिक्षकों के वेतन से कटौती ना की जाए। आपदा के समय में किसी के वेतन से कटौती उचित नहीं है। वेतन का भुगतान समय पर किया जाए। शिक्षा से सम्बन्धित सभी विभागों द्वारा अपने अन्तर्गत संचालित शिक्षण संस्थानों में इस व्यवस्था का अनुपालन कराया जाए।

 
 
   
 
 
 
                               
 
»
Home  
»
About Us  
»
Matermony  
»
Tour & Travels  
»
Contact Us  
 
»
News & Current Affairs  
»
Career  
»
Arts Gallery  
»
Books  
»
Feedback  
 
»
Sports  
»
Find Job  
»
Astrology  
»
Shopping  
»
News Letter  
up-webnews | Best viewed in 1024*768 pixel resolution with IE 6.0 or above. | Disclaimer | Powered by : omni-NET