|
|
|
|
|
|
|
|
|
Election
     
     
 

   

The U.P. Web News

#Lucknow clash on CAA दंगाइयों

ने फूंकी दो पुलिस चौकी 

मीडिया की ओवी वैन, बस और पुलिस वाहन फूंका, भारी उपद्रव

बीस बाइक, चार कारें,तीन बसें दंगाइयों ने आग के हवाले कर दीं

उपद्रवियों ने पुलिस पर की जमकर पत्थरबाजी, कई लोग घायल

Tags: # Burned Police Chauki, Agitation on CAA in Capital

Burned Police Chauki & Car in Lucknow clash on CAAलखनऊ, 19 दिसम्बर 2019,(U P Samachar Sewa)। नागरिकता संशोधन कानून CAA  का विरोध गुरुवार को राजधानी में हिंसक हो गया। विरोध के नाम पर प्रदर्शनकारियों की भीड़ पुलिस से भिड़ गई और दंगाइयों की बड़ी भीड़ में तब्दील हो गई। भीड़ ने पुलिस पर हमला किया, दो पुलिस चौकियां फूंक दी गई हैं। मीडिया की 4 ओवी वैन, 20 बाइक, 10 कारें, 3 बसों को फूंक दिया गया। दंगाइयों ने पुलिस पर भारी पथराव किया। इससे कई पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। बाद में पुलिस को बल प्रयोग करके तितर बितर करना पड़ा। राजधामी नें स्थिति को नियंत्रित करने के लिए यूपी के डीजीपी को सड़क पर उतना पड़ा।

नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के लिए 19 दिसम्बर को आह्वान किया गया था। वाम दलों और समाजवादी पार्टी के आह्वान पर गुरुवार को राजधानी में  प्रदर्शन से निपटने के लिए पुलिस प्रशासन ने भारी तैयारी की थी। लेकिन, सभी प्रबंध बेकार साबित हुए। प्रदर्शनकारियों ने ठाकुरगंज में उग्र प्रदर्शन किया। उन्होंने पुलिस पर पथराव कर दिया। यहां प्रदर्शनकारी दंगाई हो गए और सतखंडा पुलिस चौकी फूंक दी। इसके साथ ही सीतापुर रोड़ पर थाना हसनगंज क्षेत्र की चौकी मलेयगंज को फूंक दिया गया। यह भीड़ जिसमें कम उग्र के लड़के अधिक थे। भीड़ के रूप में हजरतगंज की ओर चल दिये। इन्हें पुलिस ने परिवर्तन चौक पर रोका। लेकिन, यहां भी भीड़ उग्र हो गई। भीड़ ने पुलिस की मौजूदगी में ही कई वाहनों को आग लगा दी। जबकि स्कूटी और एक कार को आग लगा दी। यहां पुलिस ने किसी तरह स्थिति को नियंत्रित किया।

संभल में बस और पुलिस की गाड़ियां फूंकी

संभल में प्रदर्शन के दौरान उग्र भीड़ ने पुलिस पर पथराव किया। यहां रोडवेज की एक बस फूंक दी गई जबकि पुलिस के कई वाहनों को आग के हवाले कर दिया गया।

Comments on this News & Article: upsamacharsewa@gmail.com  

 
यूपी सरकार चाहती है नमामि गंगे परियोजना का समय बढ़े फतेहपुर में युवती को जिंदा जलाकर मारने की कोशिश
रामालय ट्रस्ट को मिले मन्दिर बनाने का अधिकार नये ट्रस्ट की जरूरत नहीं- महंत नृत्यगोपाल दास
अयोध्या की सांस्कृतिक सीमा में मस्जिद मंजूर नहीं-विहिप सुप्रीम कोर्ट भी आरटीआई के दायरे में
श्रीरामजन्मभूमि संघर्ष का इतिहास-दो श्रीरामजन्मभूमि संघर्ष का इतिहास-तीन
Sri Ram Janmbhoomi Movement Facts & History श्रीरामजन्मभूमि संघर्ष का इतिहास एक
आक्रोशित कारसेवकों ने छह दिसंबर को खो दिया था धैर्य राम जन्मभूमि मामलाःकरोड़ों लोगों की आस्था ही सुबूत
धरम संसदः सरकार को छह माह की मोहलत मन्दिर निर्माण के लिए सरकार ने बढाया कदम,
 
 
                               
 
»
Home  
»
About Us  
»
Matermony  
»
Tour & Travels  
»
Contact Us  
 
»
News & Current Affairs  
»
Career  
»
Arts Gallery  
»
Books  
»
Feedback  
 
»
Sports  
»
Find Job  
»
Astrology  
»
Shopping  
»
News Letter  
up-webnews | Best viewed in 1024*768 pixel resolution with IE 6.0 or above. | Disclaimer | Powered by : omni-NET