U.P. Web News
|

Article

|
|
BJP News
|
Election
|
Health
|
Banking
|
|
Opinion
|
     
   News  
 

   

परिवार के मुखिया का दायित्व, हर घर में हो शौचालयः डीएम
Tags: #Meerut News
Publised on : 12 December 2016,  Last updated Time 19:39

मेरठ, 12 दिसम्बर 2016 (उ.प्र.समाचार सेवा)। मुख्यमंत्री के मिशन क्लीन यूपी-ग्रीन यूपी व स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के अन्तर्गत मेरठ महान अभियान में आज जानी खुर्द ब्लाॅक के ग्राम अघैड़ा को खुले में शौच से मुक्त होने पर हर्ष दिवस मनाया गया। हर्ष दिवस का शुभारम्भ जिलाधिकारी बी चन्द्रकला ने मुख्य विकास अधिकारी विशाख जी की उपस्थिति में फीता काटकर तथा मां सरस्वती व महात्मा गांधी के चित्र पर दीप प्रज्जवलित व माल्यार्पण कर किया गया। इस अवसर ग्राम प्रधान मंजू सिवाच सहित ग्राम में नियुक्त किये गये चैम्पियनों एवं ग्राम निगरानी समिति के पुरूष, महिलाओं एवं बच्चों की टीम को सम्मानित किया। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने ग्रामवासियों को शौचालय की उपभोग की भी शपथ दिलायी।
ग्राम अघैड़ा में हर्ष दिवस के अवसर पर ग्रामीणों को सम्बोधित करते हुए जिलाधिकारी बी चन्द्रकला ने कहा कि यह बहुत ही हर्ष का विषय है कि आपके अमूल्य सहयोग से इस ग्राम को खुले में शौच से मुक्त घोषित किया गया है जो आपकी कड़ी मेहनत व सामुहिक नेतृत्व का परिणाम है। उन्होंने कहा कि आज हर मुकाम हासिल करने के लिए स्वच्छता बहुत जरूरी है, क्योकि जब हम और हमारा परिवार स्वस्थ और स्वच्छ होगा तभी हम आर्थिक सम्पन्नता आसानी से प्राप्त कर सकते है। जिलाधिकारी ने कहा कि हमारे समाज की महिलाओ ने अपने धैर्य का परिचय देते हुए दुराचारियों से अपने सम्मान को बचाने हेतु पीड़ा सहते हुए शाम ढलने का इंतजार किया है और खेतों में जाकर मल त्यागा हैं। उन्होनं कहा कि हर घर के मुखिया का यह दायित्व है कि वह अपने घर की महिलाओं एवं बहनों के सम्मान एवं सुरक्षा प्रदान कराने के लिए इज्जतघर का निर्माण जरूर करायें।
जिलाधिकारी ने ग्रामवासियों को शौचालय की उपयोगिता बताते हुए कहा कि यदि घर में शौचालय होगा तो उनका परिवार अनेकों बीमारियों से दूर होगा तथा उनका बीमारियों पर होने वाला व्यय बचेगा। उन्होंने बताया कि खुले में मल त्यागने से अनेकों माध्यमों से किटाणु हमारे अन्दर जाते है जिनसे अनेको खतरनाक कैंसर जैसी बीमारिया उत्पन्न होती है।
जिलाधिकारी ने ग्रामवासियों का आहवान किया कि जिस प्रकार मेरठवासियों ने देश को आजाद कराने में 1857 में क्रान्ति का बिगुल बजाया था उसी प्रकार प्राचीन काल से चली आ रही खुले में शौच जैसी कुप्रथा एवं रूढिवादिता को हर घर में इज्जतघर बनाकर जड़ से दूर करना हैं। जिलाधिकारी ने ग्रामवासियों को शपथ दिलायी कि वह जिन शौचालयों का निर्माण किया गया है आप उसका दैनिक उपयोग करेगें और अन्य ग्रामों में निवास करने वाले अपनो को इसके निर्माण एवं उपभोग के लिये प्रेरित भी करेंगे।
उन्होंने ग्रामवासियों से कहा कि आज इस हर्ष दिवस से अन्य ग्राम भी प्रेरणा लेगें और अपने ग्रामों को शीघ्र अतिशीघ्र ओडीएफ घोषित कर हर्ष दिवस मनायेंगे। जिलाधिकारी ने ग्रामीणों से कहा कि वह ग्राम में एकजुट होकर यह निर्णय ले की यदि कोई अभी भी खुले में शौच को जाएगा तो उससे जुर्माने के रूप में 500 रूपये ग्राम निधि के खाते में जमा कराये जाए। उन्होंने ग्राम के मुख्य द्वारों पर इसके लिए बोर्ड अंकित करने के लिए भी कहा।
मुख्य विकास अधिकारी विशाख जी ने ग्रामीणों को सम्बोधित करते हुए कहा कि स्वच्छता हमारे जीवन का महत्वपूर्ण कार्य है जिसको करते हुए हमें स्वंय तथा अपने समाज को स्वच्छ व स्वस्थ रखना है। उन्होंने कहा कि आज के समय में अनेकों बीमारियां गंदगी तथा प्रदूषण के कारण पनपती है इसलिए हम सभी को अपने अन्दर एक पुण्य कार्य की ललक जलाते हुए अपने पर्यावरण को स्वच्छ तथा स्वस्थ रखना है।
उन्होंने बताया कि मेरठ जनपद में मेरठ महान के नाम से खुले में शौच मुक्त हेतु यह कार्यक्रम पिछले दो माह से जनपद की 482 ग्राम पंचायतों में चल रहा है, जिसमें से 45 ग्रामों को ओडीएफ घोषित किया जा चुका है तथा शीर्घ ही एक सप्ताह के अन्दर 20 अन्य ग्राम पंचायतों को भी मानक के अनुरूप पूर्ण होने पर ओडीएफ घोषित किया जाएगा। उन्होनंे कहा कि ग्राम में नियुक्त चैम्पियनों एवं ग्राम निगरानी समिति द्वारा प्रत्येक घर जाकर लोगो की मानसिकता परिवर्तन हेतु माॅर्निगं फाॅलोअप व बैठक आयोजित कर उनको खुले में शौच न करने एवं इज्जत घर निर्माण हेतु प्रेरित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि ग्राम अघैड़ा के प्राथमिक विद्यालय में निर्मित हुए बालक बालिकाओं के शौचालय की सराहना करते हुए बताया कि इस शौचलय का फोटो भारत सरकार की वेबसाइट पर है जिसके कारण ग्राम अघैड़ा का नाम पूरे देश में दर्ज हुआ है।
कार्यक्रम का संचालन करते हुए जिला पंचायत राज अधिकारी ने बताया कि ग्राम में कुल 244 परिवार है जिसमें 190 परिवारों द्वारा स्वेच्छा से शौचालय का निर्माण कराया गया तथा 54 परिवारों द्वारा सरकारी सहायता से शौचालयों को निर्माण कराया है।
इस अवसर पर ग्राम के बच्चों द्वारा सरस्वती वंदना प्रस्तुत की गयी तथा अध्यापिका कौशर जहां के नेतृत्व में आओ अपनी सोच बदले संदेशप्रद लघु नाटक प्रस्तुत किया गया।
इस अवसर पर खण्ड विकास अधिकारी अमित कुमार, ब्लाॅक प्रमुख जानी खुर्द अनिल कुमार, नीरज कुमार, सहित अन्य अधिकारी एंव गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे।

नोटबंदी में जान गवांने वालों को यूपी सरकार दोगी मुआवजा रिश्वत के लिये दबाव बनाने वाला शिक्षक नेता निलंबित
पीएम मोदी ने चेन्नई पहुंचकर जयललिता को दी श्रद्धांजलि प्रतापगढ़ के डीआईओएस को परिवार समेत हत्या की धमक
विहिप महामंत्री चंपत राय ने दी जयललिता को श्रद्धांजलि तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे. जयललिता नहीं रहीं
पीएम मोदी ने चेन्नई पहुंचकर जयललिता को दी श्रद्धांजलि नरेन्द्र मोदी की होर्डिंग आग के हवाले
Share as:  

News source: UP Samachar Sewa

News & Article:  Comments on this upsamacharsewa@gmail.com  

 
 
 
                               
 
»
Home  
»
About Us  
»
Matermony  
»
Tour & Travels  
»
Contact Us  
 
»
News & Current Affairs  
»
Career  
»
Arts Gallery  
»
Books  
»
Feedback  
 
»
Sports  
»
Find Job  
»
Astrology  
»
Shopping  
»
News Letter  
up-webnews | Best viewed in 1024*768 pixel resolution with IE 6.0 or above. | Disclaimer | Powered by : omni-NET