U.P. Web News
|
|
|
|
|
|
|
|
|
 
  रायबरेली  
 
Home>News>Election.14>Rae-barelly

 
Uttar Pradesh - Rae Bareli
Result Declared
Candidate Party Votes
SONIA GANDHI Indian National Congress 526434
AJAY AGRAWAL Bharatiya Janata Party 173721
PRAVESH SINGH Bahujan Samaj Party 63633
ARCHANA SRIVASTAVA Aam Aadmi Party 10383
SHAKIL AHAMAD Independent 7914
PRAMOD KUREEL Independent 6688
KIRAN CHAUDHARI Bahujan Mukti Party 5205
MANGAL SAIN Independent 4418
SAHADAT ALI KHAN Independent 3538
ANJU SINGH All India Trinamool Congress 3507
SURESH CHANDRA Manavtawadi Samaj Party 3330
KAILASH KUMAR Hindustan Krantikari Dal 2645
SAHAR NAQVI Lok Dal 2108
RATIRAM Samtawadi Republican Party 1661
MOHAMMAD ASHRAF VANCHITSAMAJ INSAAF PARTY 1586
SHIV SEWAK Rashtriya Ahinsa Manch 1493
JAWAHAR LAL Nehru Janhit Congress 1463
None of the Above None of the Above 5409
Last Updated at 4:54 PM On 17/5/2014

 

रायबरेली से फकरूद्दीन ने लौटाया टिकट, अर्चना बनी आप की उम्मीदवार
Tags: Rae Barelly, AAP CNDIDATE
Publised on : 08 April 2014  Time 17:55

लखनऊ, 08 अप्रैल। उत्तर प्रदेश की रायबरेली संसदीय सीट से आम आदमी पार्टी (आप) के प्रत्याशी सेवानिवृत न्यायाधीश फकरूद्दीन ने टिकट वापस कर दिया है। पार्टी ने उनकी जगह अर्चना श्रीवास्तव को उम्मीदवार बनाया है। इस सीट से कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी चुनाव लड़ रही हैं।
उप्र की रायबरेली संसदीय सीट से आप पार्टी को बड़ा झटका लगा है। आप पार्टी के नेताओं ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय के न्यायाधीश रह चुके फकरूददीन ने खुद को चुनाव से अलग कर लिया है।आप पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता वैभव माहेश्वरी ने आईएएनएस को बताया कि उन्होंने पार्टी को सूचित किया है कि वह लोकसभा चुनाव के लिए उपलब्ध नही रह पायेंगे।
पार्टी ने सोनिया गांधी के खिलाफ सामाजिक कार्यकर्ता अर्चना श्रीवास्तव को लड़ाने का फैसला किया है। भाजपा ने इस सीट से प्रख्यात वकील अजय अग्रवाल को मैदान में उतारा है और सोमवार को उन्होंने अपना नामांकन पत्र दाखिल किया था।उल्लेखनीय है कि आप पार्टी ने अमेठी संसदीय सीट से राहुल गांधी के खिलाफ मशहूर कवि कुमार विश्वास को मैदान में उतारा है।

9 करोड़ 28 लाख रुपये की मालकिन बनीं सोनिया

लखनऊ02 अप्रैल। आम आदमी की दशा को लेकर भले ही चर्चाओं का बाजार गर्म हो लेकिन देश की सत्ता पर काबिज कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी की संपत्ति बीते पांच साल में साढ़े छह गुना से ज्यादा बढ़ी है। वह अब नौ करोड़ 28 लाख रुपये की मालकिन बन गयी हैं। जबकि सन 2009 में उनकी संपत्ति महज एक करोड़ 37 लाख थी। संपत्ति में हुई इस बढ़ोत्तरी का नतीजा कहा जाएगा कि उन्होंने बेटे राहुल गांधी को नौ लाख रुपये का कर्ज भी दे रखा है। हां, सोनिया ने कार अभी तक नहीं खरीदी है। कांग्रेस अध्यक्ष ने अपनी माली हालत की जानकारी बुधवार को रायबरेली संसदीय सीट पर नामांकन पत्र दाखिल करने के दौरान शपथ पत्र में दी है।
सोनिया गांधी की अचल संपत्ति में इटली का 20 लाख का वह मकान भी शामिल है, जो उन्हें पैतृक संपत्ति में से मिला है। सोनिया ने रायबरेली संसदीय सीट से चैथी बार अपनी उम्मीदवारी का पर्चा दाखिल किया है। इस दौरान उनके साथ कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी थे। बेटी प्रियंका वाड्रा और उनके पति रॉबर्ट वाड्रा की गैर मौजूदगी चैंकाने व
ाली रही जबकि मंगलवार को दी गई अधिकृत जानकारी में दोनों के आने की बात कही गई थी।
उल्लेखनीय है कि प्रियंका वाड्रा रायबरेली संसदीय क्षेत्र में अहम जिम्मेदारी निभाती रही हैं। सोनिया गांधी ने रायबरेली से पहली बार 2004 में विजय हासिल की थी लेकिन लाभ के पद के विवाद में उन्हें इस्तीफा देना पड़ा था। इसके बाद 2006 में उपचुनाव लड़का वह विजयी हुई। सन 2009 में वह फिर यहां से चुनी गई। बुधवार को नामांकन के बाद सोनिया गांधी ने अभी तक की चुनावी सफलताओं के लिए रायबरेली की जनता को धन्यवाद देते हुए उम्मीद जताई कि जनता उन्हें फिर से भारी बहुमत से विजयी बनाएंगी।
निर्धारित समय से करीब एक घंटे की देरी से फुरसतगंज हवाई पंट्टी पर सोनिया गांधी बेटे राहुल गांधी और पूर्व सांसद कैप्टन सतीश शर्मा के साथ चार्टर्ड विमान से उतरीं। यहां से उनका काफिला आइटीआइ पहुंचा जहां श्रमिकों ने उनका जोरदार स्वागत किया। कांग्रेस के केंद्रीय कार्यालय में हवन-पूजन के बाद वह कलेक्ट्रेट के लिए रवाना हुई। उनकी गाड़ी में चालक की सीट पर बेटे राहुल गांधी थे।
रास्ते में बड़ी संख्या में मौजूद कार्यकर्ताओं ने फूलों की बरसात की तो कांग्रेस अध्यक्ष ने वाहन पर खड़े होकर लोगों का अभिवादन स्वीकार किया।
इटली में भी है 20 लाख की संपत्ति
- नकद 85 हजार रुपये।
- बैंक में जमा 66 लाख 28 हजार 638 रुपये।
- शेयर में निवेश एक लाख 90 हजार रुपये, म्यूचुअल फंड में 82 लाख 20 हजार 437 रुपये, पीपीएफ में 42 लाख 49 हजार 877 रुपये और दो लाख 86 हजार 237 रुपये के एनएससी
- 1267.3 ग्राम सोना व 88 किलो चांदी (गहने भी शामिल)
- 15 बीघा 15 बिस्वा भूमि, जिसकी कीमत छह करोड़ 27 लाख 54 हजार 580 रुपये।
- 20 लाख रुपये कीमत की इटली में पैतृक अचल संपत्ति।

सोनिया गाँधी ने रायबरेली से किया नामांकन
Tags: UP News, Rae Barelly MP Constituency, Congress
Publised on : 02 April 2014 Time: 23:29

लखनऊ 02 अप्रैल। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी ने बुधवार को रायबरेली संसदीय सीट से पर्चा दाखिल किया। सोनिया सुबह साढ़े दस बजे फुर्सतगंज गेस्टहाउस पहुंचने के बाद शहर के केंद्रीय कार्यालय पहुंच कर हवन पूजन किया। उसके बाद कलेक्ट्रेट जाकर नामांकन भरा।

नामांंकन दाखिल करने से पूर्व श्रीमती गाँधी ने ाहर में रोड ाो किया। रोड ाो के दौरान राहुल गाँधी अपनी माँ सोनिया गाँधी के सारथी की भूमिका में खुद गाड़ी चला रहे थे। इस दौरान लोगों का भारी हुजूम जमा था। इस अवसर पर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी और कैप्टन सतीष ार्मा भी मौजूद थे। इस सीट से सोनिया गाँधी तीन बार से लगातार सांसद हैं और चैथी बार नामांकन दाखिल किया है। खबर थी कि नामांकन में उनके साथ बेटी प्रियंका वाड्रा और दामाद राबर्ट वाड्रा भी रहेंगे लेकिन वह नहीं पहुँच सके। नामांकन करने बाद सोनिया गाँधी ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि यहाँ के लोगों ने मुझे अपनाया है और वे मुझसे प्रेम करते हैं। राहुल गाँधी ने वरूण गाँधी की तारीफ करते हुए कहा कि वह सही कह रहे हैं। हमने अमेठी के लिए काम किया है। किसानों के लिए काम करके खुष हूँ।

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने रायबरेली में सोनिया के खिलाफ और अमेठी में राहुल गांधी के खिलाफ उम्मीदवार नहीं उतारने का ऐलान किया है। भाजपा ने अधिवक्ता अजय अग्रवाल को सोनिया गांधी के खिलाफ टिकट दिया है। पिछले लोकसभा चुनावों में सोनिया एक बड़े अंतर से जीती थीं।

सोनिया ने निभाया परिवार की 47 साल पुरानी परंपरा

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने नामांकन से पहले अपने परिवार की 47 साल पुरानी परंपरा का निर्वाह भी किया। दरअसल, पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी रायबरेली से नामांकन पत्र दाखिल करने से पहले पार्टी के वफादार सिपाही गया प्रसाद ाुक्ला के घर पूजा पाठ करती थीं।

इंदिरा गांधी ने 1967 में जब रायबरेली को अपना चुनाव क्षेत्र चुना था तो उन्होंने सबसे पहले गया प्रसाद ाुक्ला को वहां अपना चुनाव प्रतिनिधि बनाया था। ाुक्ला पूर्व में पेषे से पत्रकार थे। वह पचास के दषक में नवजीवन अखबार से जुड़े थे और इंदिरा गांधी के पति फिरोज गांधी उस समय इस समाचार पत्र के प्रकाषक हुआ करते थे।गौरतलब है कि फिरोज गांधी भी रायबरेली सीट से 1952 और 1957 में कंाग्रेस के टिकट से चुनाव लड़ थे और दोनों बार जीत भी दर्ज की थी। ाुक्ला ने इन दोनों चुनावों को नवजीवन के पत्रकार की हैसियत से कवर भी किया था।

बाद में वर्श 1960 में जब फिरोज गांधी की मौत हो गई तो ाुक्ला ने नवजीवन अखबार के तत्कालीन प्रबन्ध संपादक दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री ाीला दीक्षित के वसुर उमा ांकर दीक्षित से संपर्क कर सुझााव दिया कि यदि इंदिरा गांधी रायबरेली की सीट से लड़े ंतो वह चुनाव जीत सकती हैं।ाुक्ला के इस सुझाव को गंभीरता से लेते हुए उमा ांकर दीक्षित ने जब पूरे संसदीय क्षेत्र में सर्वे कराया तो माहौल इंदिरा गांधी के पक्ष में दिखा। फिर उन्होंने इंदिरा के सामने वहां से चुनाव लड़ने का प्रस्ताव रखा, जिसे इंदिरा ने मान लिया और जब वह रायबरेली चुनाव लड़ने पहुंची तो उन्होंने सबसे पहले ाुक्ला को अपना चुनाव प्रतिनिधि नियुक्त किया।
बाद में गया प्रसाद ाुक्ला ने अखबार की नौकरी छोड़ दी और कांग्रेस से जुड़ गये। वह पार्टी के कई पदों पर भी रहे और सबसे अधिक वह रायबरेली नेहरू-गांधी परिवार के लिए एक ाुभ सूचक बन गये। पार्टी सूत्रों की माने तो ाुक्ला के घर इंदिरा द्वारा ाुरू की गई पूजा आज गांधी परिवार की एक परंपरा सी बन गई है। सोनिया गांधी ने जब पहली बार रायबरेली से 2004 में चुनाव लड़ा तो उन्होंने भी इस परंपरा का निर्वाह किया। वर्श 2009 के चुनाव में भी सोनिया गांधी को ाुक्ला का आषीर्वाद मिला था।यद्यपि ाुक्ला अब इस दुनिया में नहीं हैं। वर्श 2010 में उनकी मौत हो गई लेकिन सोनिया अब भी परिवार की इस पुरानी परंपरा का निर्वाह करने जा रही हैं।

 सोनिया गाँधी दो को रायबरेली से करेंगी नामांकन
Tags: UP News, Rae Barelly MP Constituency, Congress
Publised on : 31 March 2014 Time: 23:21

रायबरेली/लखनऊ 31 मार्च। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी रायबरेली लोकसभा सीट से आगामी दो अप्रैल को अपना नामांकन पत्र दाखिल करेंगी। रायबरेली में चुनाव के चैथे चरण में 13 अन्य सीटों के साथ 30 अप्रैल को मतदान होगा। रायबरेली से सटे लखनऊ लोकसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी अध्यक्ष राजनाथ सिंह चुनाव लड़ रहे हैं। लखनऊ में भी चैथे चरण में ही मतदान होगा।
सोनिया गांधी के नामांकन के समय उनकी बेटी प्रियंका गांधी वाड्रा, दामाद राबर्ट वाड्रा और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी मौजूद रहेंगे। है। सूत्रों अनुसार दो अप्रैल को श्रीमती गांधी की कोई सभा फिलहाल आयोजित नही हैं, लेकिन वह नामांकन करने के पहले कांग्रेस कार्यालय में पूजा करेंगी।
सोनिया गांधी और उनका परिवार लखनऊ तक हवाई जहाज से जाएगा। लखनऊ से सड़क मार्ग से रायबरेली पहुंचेंगे। लखनऊ रायबरेली सीमा पर स्थित एक हनुमान मंदिर में सोनिया गांधी पूजा कर सकती हैं। कांग्रेस अध्यक्ष तीन बार रायबरेली से सांसद चुनी गई हैं। सन 2006 में लाभ का पद मामले में इस्तीफा देने के बाद उपचुनाव में भी वह जीत हासिल कर चुकी हैं। सन 2004 में वो राहुल गांधी के लिए अमेठी सीट छोड़कर रायबरेली से चुनाव लड़ी थीं।

Notification: 02.04.2014
Nomination: 02-09 April 14
Withdrawal: 12.04.2014
Polling: 30.04.2014
Counting: 16.05.2014

   Candidate

 
 
 
 
   
 
 
                               
 
»
Home  
»
About Us  
»
Matermony  
»
Tour & Travels  
»
Contact Us  
 
»
News & Current Affairs  
»
Career  
»
Arts Gallery  
»
Books  
»
Feedback  
 
»
Sports  
»
Find Job  
»
Astrology  
»
Shopping  
»
News Letter  
up-webnews | Best viewed in 1024*768 pixel resolution with IE 6.0 or above. | Disclaimer | Powered by : omni-NET