U.P. Web News
|
|
|
|
|
|
|
|
|
 
  Fatehpur  
 
Home>News>Fatehpur
फतेहपुर में महिला कांस्टेबिल की ट्रेन से कटकर मौत
फतेहपुर, 09 दिसम्बर 2016 (उ.प्र.समाचार सेवा)। वीआईपी ड्यूटी पर बांदा से आयी महिला हेड कांस्टेबिल की ट्रेन से कटकर मौत हो गई। वह बांदा में महिला थाना में तैनात थी। Read More
बेटी की शादी को डाकघर से पैसा नहीं निकलने पर किसान की मौत

फतेहपुर, 04 दिसम्बर 2016 (उ.प्र.समाचार सेवा)। बेटी की शादी के लिए बैंक से रुपये नहीं निकल पाने के कारण एक किसान की मौत हो गई। परिजनों का आरोप है कि वह कई दिनों से पैसा नहीं निकल पाने के कारण परेशान था। परिजनों ने बताया कि किसान पिछले कई दिनों से प्रधान डाकघर से पैसा निकालने के लिए चक्कर लगा रहा था। Read More

Fatehpur: नलकूप की छत पर शव मिला

फतेहपुर/थाना औंग, दिनांक 28/29-04-2016 को रात्रि में थाना औंग क्षेत्रान्तर्गत मोती लाल निषाद उम्र 65 वर्ष निवासी धानपुर मजेरा बड़ा हार थाना औंग का शव गांव में ही स्थित नलकूल की छत पर पड़ा मिला read more

प्रापर्टी विवाद में मां-बेटी की हत्या, एक घायल

फतेहपुर प्रापर्टी के विवाद में एक महिला और उसकी बेटी की सगे भतीजे ने गोली मारकर हत्या कर दी। जबकि मृतका की दूसरी बेटी गंभीर रूप से घायल हो गई। read more

चोर समझ विक्षिप्त महिला को पीट पीट कर मार डाला
Publised on : 01 May 2014  Time 16:19

फतेहपुर। जिले के थाना असोथर अन्तर्गत नई बस्ती खवाई सरकण्डी में एक मानसिक विक्षिप्त महिला को चोर समझकर ग्रामीणों ने पीट पीट कर मार डाला। मामले में पुलिस ने पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। read more

जेलों में लगेंगे पीसीओ-कारागार मंत्री
Publised on : 22 July  2012, Time:  23:37

ऐरायां (फतेहपुर), 22 जुलाई। पूर्व विधायक रणवेन्द्र प्रताप सिंह उर्फ धुन्नी भइया के पिता श्री लल्ला बाबू के निधन पर शोक संवेदना व्यक्त करने अल्लीपुर स्थित आवास आये प्रदेश के कारागार, खाद्य एवं रसद मंत्री रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भइया की एक झलक पाने के लिए लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा। राजा भइया ने हांथ जोड़कर उपस्थित लोगो का अभिवादन किया। भीड़ को नियंत्रित करने में पुलिस एवं उनके अंग रक्षकों को पसीना बहाना पड़ा। इस बीच सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी के नेताओं का भी जमावड़ा लगा। उधर पत्रकारों से बातचीत करते काबीना मंत्री ने व्यवस्थाओं में खामियों को स्वीकार किया और मुख्यमंत्री द्वारा किये जा रहे प्रयासों की सराहना की।
प्रदेश के काबीना मंत्री राजा भइया क्षेत्र के पूर्व विधायक रणवेन्द्र प्रताप सिंह के आवास पर करीब सवा दो बजे आये। उनके आते ही उनकी एक झलक पाने के लिए धुन्नी सिंह के आवास पर भारी भीड़ एकत्र हो गयी। राजा भइया ने भी अभिवादन किया। इस बीच राजाभइया के आने के पूर्व समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष रामेश्वर दयाल दयालू गुप्ता, महामंत्री सुरेन्द्र प्रताप सिंह, पूर्व अध्यक्ष समरजीत सिंह, रामशरण यादव, रामबहादुर यादव, जिला पंचायत सदस्य अरूण कुमार यादव, अनूप यादव, जमीरउद्दीन, प्रेमनाथ विश्वकर्मा सहित अनेक सपा नेताओं का पूर्व विधायक धुन्नी भइया तथा उनके पुत्र आदित्य प्रताप ंिसंह स्वागत में लगे रहे। बाद में खागा विधायक कष्णा पासवान ने भी राजा भइया से मुलाकात की।
शोक संवेदना व्यक्त करने आये राजा भइया जैसे ही पूर्व विधायक के आवास में अपने वाहन से उतरे बड़ी संख्या में उपस्थित भीड़ ने तालियों की गड़गड़ाहट के साथ स्वागत किया। चूंकि उनका यह नितान्त व्यक्तिगत और शोक संवेदना का कार्यक्रम था अतः कोई नारे बाजी नहीं हुयी लेकिन भीड़ अन्त तक उनकी एक झलक पाने के लिए उतावली रही। सुबह 10 बजे से ही लोगों का पूर्व विधायक के आवास आने का सिलसिला शुरू हो गया और उनके आगमन तक भीड़ इतनी ज्यादा हो गयी कि स्थानीय पुलिस एवं काबीना मंत्री के साथ आये सुरक्षा गार्डों को नियंत्रित करना पड़ा।
इस बीच प्रदेश के काबीना मंत्री राजा रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भइया ने पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुए कहा कि जेलों की व्यवस्थाओं में पहले से कुछ सुधार हुआ है लेकिन अभी भी बहुत कुछ सुधार की आवश्यकता है। एक प्रश्न के उत्तर में उन्होने कहा कि स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर लगभग साढे तीन सौ पात्र कैदी रिहा किये जायेंगे। सामूहिक हत्याओ,ं बलात्कार आदि जघन्य अपराधों में बन्द कैदियों को नहीं छोड़ा जायेगा। उन्होने कहा पूरे प्रदेश में 80 हजार बन्दी हैं और 22 हजार सजायाता हैं। जेलों में ओवरलोड की समस्या है। पिछले शासनकाल में मुख्यमंत्री मुलायम सिंह द्वारा स्थापित कौशाम्बी की जेल की शीघ्र शुरूआत हो जायेगी। प्रदेश में 7 जेले लगभग तैयार हैं और आधा दर्जन जेलों का निर्माण प्रस्तावित है।
उन्होने बताया कि जेलों में जाली से मुलाकात की व्यवस्था बन्द कर दी गयी है। पति-पत्नी या एक ही परिवार के लोग पहले अलग-अलग जेलों में रहते थे अब जिला जेल में एक साथ रहेंगे और प्रत्येक शनिवार को मुलाकत भी करेंगे। उन्होने बताया कि जेलों में पीसीओ लगवाये जायेंगे और कैदी के निर्धारित दो फोन नम्बर होगें जिन पर बातचीत का रिकार्ड भी होगा। मानवीय दृष्टिकोण से मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के निर्देश पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। यही कारण है कि अब कैदी सप्ताह में दो बार अपने परिजनों से बात कर सकेंगे।
एक प्रश्न के उत्तर में खाद्य एवं रसद मंत्री ने कहा कि इस समय अत्योदय की पात्रता सूची में एक करोड़ छः लाख पात्र अंकित है। चूंकि यह योजना केन्द्र सरकार की है अतः मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने 50 लाख पात्रों के नाम बढ़ाने का पत्र केन्द्र सरकार को भेजा है। उन्होंने बताया कि अब कार्डधारकों को एटीएम की तरह स्मार्ट कार्ड की सुविधा प्रदान की जायेगी। बिजली संकट के बारे में उन्होंने कहा कि बन्द पड़ी इकाईयों को चालू कराना, क्षमता की बढ़ोत्तरी और नये पावर प्लांट की स्थापना कर बिजली संकट को दूर किया जायेगा। मुख्यमंत्री और पूरा मंत्रिमण्डल बिजली संकट को लेकर गम्भीर है। एक साल के भीतर जनता को बिजली, पानी, सड़क, स्वास्थ्य, शिक्षा जैसी बुनियादी समस्याओं का निस्तारण दिखाई देने लगेगा। प्रेस वार्ता में कौशाम्बी के सांसद शैलेन्द्र कुमार तथा बुद्धू लाल भी उपस्थित रहे।

युवा पत्रकार की आकस्मिक मृत्यु से फतेहपुर में शोक
News source: U.P.Samachar Sewa
Publised on : 20 July  2012, Time:  20:23

फतेहपुर, 21 जुलाई। एक चर्चित टीवी चैनल के युवा पत्रकार की आकस्मिक मृत्यु से जनपद के सभी पत्रकारों में शोक व्याप्त हो गया। जैसे ही पीजीआई लखनऊ से उनके मृत्यु की खबर जनपद मे आयी। पत्रकारो ने उनके घर पहुंचकर उनके परिजनो से शोक संवेदना व्यक्त की और परिवार को इस दुःखद घड़ी से उबारने के लिए ईश्वर से कामना की।
मालूम हो कि एक टीवी चैनल के युवा पत्रकार अमरेश श्रीवास्तव को सिर में मामूली चोट लगभग बीस दिन पहले लगी थी। जिसको उन्होने गंभीरता से नही लिया था। जिसके चलते चार दिन पूर्व अचानक उनकी तबियत बिगड़ी जिनको उनके मामा वरिष्ठ पत्रकार श्रवण श्रीवास्तव व विवेक श्रीवास्तव ने करूणा जीवन ज्योति में इलाज हेतु भर्ती कराया था। डाक्टरो के जवाब देने पर भांजे को उपचार के लिए कानपुर ले गये थे। कानपुर के डाक्टरो ने ब्रेन हैमरेज की आशंका जताते हुए पीजीआई लखनऊ ले जाने के लिए रिफर किया था। जहां उनका इलाज सघन शल्य चिकित्सा के द्वारा चल रहा था। आज प्रातः जिंदगी से लड़ते हुए युवा पत्रकार हार गये और उनकी दुःखद मृत्यु हो गयी।
जैसे ही उनके मृत्यु की खबर जनपद के पत्रकारो को लगी उनके घर सांत्वना देने वालों का तांता लग गया। देर शाम युवा पत्रकार के शव को अंतिम संस्कार के लिए भृगुधाम भिटौरा ले जाया गया। जहां हिन्दू रीति-रिवाज के अनुसार उनका अंतिम संस्कार उनके अनुज मयंक श्रीवास्तव ने मुखाग्नि देकर किया। ज्ञाज हो कि उनके पिता अजय श्रीवास्तव रेलवे विभाग में सरकारी कर्मचारी है। युवा पत्रकार अपने पीछे छोटे भाई एवं माता-पिता सहित दो बहनो को छोड़ गये है।
उत्तर प्रदेश जर्नलिस्ट एसोसिएशन ने युवा पत्रकार के आकस्मिक मौत पर सिविल लाइन पत्थरकटा चैराहा स्थित कैम्प कार्यालय में वरिष्ठ पत्रकार एवं उपजा के प्रांतीय उपाध्यक्ष राजेश माहेश्वरी की अध्यक्षता में एक शोक सभा का आयोजन किया गया। जिसमें पत्रकारो ने उपस्थित होकर दो मिनट का मौन धारण कर दिवंगत आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की। इस अवसर पर वसीम अख्तर, शकील सिद्दीकी, रईसउद्दीन, नागेन्द्र सिंह, अवधेश पाण्डेय, अवधेश द्विवेदी, करूणा सिंधु चतुर्वेदी, दिलीप सिंह, जयगोपाल शुक्ला, हरीश शुक्ला, अनिल श्रीवास्तव, दीपक अग्निहोत्री, अनिल बाजपेई, मो. मकसूद अहमद शीबू, शाहिद अली, नीतेश श्रीवास्तव, संदीप केशरवानी, सीबी त्यागी, देवेन्द्र पटेल, अवधेश मौर्य, विनोद मिश्र, राजकुमार तिलक, विक्टर राबर्ट, उग्रसेन गुप्ता, टीटू, शमशाद, जयकेश, रामचन्द्र सैनी, जगन्नाथ, बब्लू मौर्य, संजय, धीरू, अरूण, सोनू, राहुल त्रिवेदी, इसरार अहमद सहित दर्जनो पत्रकार उपस्थित रहे।
जिला पत्रकार संघ रजिस्टर्ड के अध्यक्ष शैलेन्द्र शरन सिम्पल की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में पत्रकारों ने युवा पत्रकार की आकस्मिक मृत्यु पर शोक व्यक्त किया। इस मौके पर विजय कुमार शुक्ला, अब्दुल बारी खान, राधेश्याम हयारण आदि मौजूद रहे। जिला सूचना कार्यालय में सहायक निदेशक सूचना प्रेमलाल की अध्यक्षता में एक शोकसभा आयोजित कर युवा पत्रकार की मौत पर शोक व्यक्त किया गया तथा दो मिनट का मौन रखा गया। इस मौके पर मो. आलम, बीरेन्द्र नाथ पाण्डेय, सुरेश, चन्द्रेश्वर, वसुधा आदि रहे।

Fatehpur: तीन दिन तक दलित किशोरी के साथ गैंगरेप
News source: Rajesh Maheshwory, Fatehpur
Publised on : 05 July  2012, Time:  21:20

Fatehpur, फतेहपुर, 05 जुलाई। असोथर थाना क्षेत्र के ग्राम सातों जोगा में अपनी सहेलियों के साथ नौटंकी देखने गयी एक 13 वर्षीय दलित किशोरी को अगवा कर तीन दिन तक गैंगरेप करने के बाद उसे गांव के बाहर टावर के नीचे छोड़कर चले गये। होश आने पर वह किसी तरह से अपने घर पहुंची तथा अपने परिजनो को सारी दास्तान सुनायी। जिस पर घर वाले उसे थाने ले गये। पुलिस ने तत्काल मामले को गंभीरता से लेते हुए एक नामजद व चार अज्ञात लोगो के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के बाद किशोरी को डाक्टरी परीक्षण हेतु जिला अस्पताल भेजा है। पुलिस ने नामजद अभियुक्तों को गिरतार कर लिया है।
जानकारी के अनुसार उक्त गांव में एक जुलाई को नौटंकी हो रही थी। जिस पर गांव निवासी राकेश कुमार की पुत्री सरिता (दोनो काल्पनिक नाम) अपनी कुछ सहेलियों के साथ नौटंकी देखने गयी थी। बताते है कि रात लगभग एक बजे वह शौचक्रिया के लिये गयी। तभी पहले से घात लगाये बैठा गांव के ही विजय यादव 45 वर्ष अपने अन्य चार साथियों के साथ उसके पास आया और उसे तमंचे के बल पर अगवा कर ले गया तथा गांव से ही सटा दादी का पुरवा गांव के किनारे बने नलकूप में ले जाकर उसके साथ जबरन तीन दिन तक दुष्कर्म किया और तीन तारीख की शाम उसे गांव के बाहर टावर के नीचे बेहोशी की हालत में छोड़कर फरार हो गये।
लगभग एक घंटे बाद जब किशोरी को होश आया तो वह अपने घर पहुंची तथा मां-बाप को सारी दास्तान बतायी। जिस पर परिजन उसे आनन-फानन थाने ले गये। जहां किशोरी ने पुलिस के सामने अपनी आपबीती बतायी। पुलिस ने तत्काल मामले को गंभीरता से लेते हुए तत्काल विजय यादव व उसके चार अज्ञात साथियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर डाक्टरी परीक्षण के लिए सदर अस्पताल भेजा है। जहां परीक्षण के दौरान पीड़ित किशोरी ने बताया कि उसके साथ सिर्फ विजय ने ही तमंचे के बल पर तीन दिन तक दुष्कर्म किया है। पुलिस ने विजय को गिरतार कर लिया है। जबकि उसके अन्य साथियों की तलाश कर रही है।

पानी न बरसने से कुछ इस तरह फट रही धरती
फतेहपुर, 05 जुलाई। इन्द्रदेव की बेरूखी और सूर्य भगवान के आक्रोश के कारण वातावरण में दिन-प्रतिदिन बढ़ने वाली गर्मी से आम जनमानस जहां बीमारियों की चपेट में आ रहा है। वहीं किसान धान की फसल के लिए नर्सरी समय से नही डाल पाने के कारण बेचैन होकर अपने भविष्य की चिन्ताओं में मायूस सा दिखाई देता है।
प्रकति के अनुसार आषाढ माह से लगातार चार माह तक समय वर्षाकाल का होता है और उसी के आधार पर भारतीय किसान भी अपने फसल आदि बोने के लिए खेतों की जुताई-बुआई का काम शुरू कर देते हैं। लेकिन इस बार पूरा आषाढ़ महीना सूखा निकल गया और नहर विभाग ने भी किसानों को समय पर पानी नही दे पाया। जिससे किसानों की धान की नर्सरी डालने का मौका भी नही मिला और खेत बिना जोते हुए बंजर पडे़ देखकर किसान मायूस दिखाई दे रहे है। इसके अलावा सूर्य भगवान भी अपना आक्रोश कम नही दिखा रहे हैं। क्योंकि जैसे-जैसे वर्षाकाल का समय बीतता जा रहा है। वैसे-वैसे सूर्य आग उगलता जा रहा है। जिससे आम जनमानस गर्मी के कारण बेचैन है। वहीं मौसमी बीमारियां भी धीरे-धीरे पांव पसारती जा रही हैं। जिससे घर-घर मरीजों की चारपाईयां पडी है। कहीं सरकारी व निजी अस्पतालों में मरीजों की लाइने लगी देखने को मिल जाती है। गर्मी के कारण विभिन्न प्रकार की बीमारियों के साथ उमस से भी आम नागरिक अपने रोजमर्रा के काम भी बमुश्किल कर पा रहे हैं। वहीं किसान बादलों की ओर निराश नजरों से देखकर अपने भविष्य की चिन्ता में डूबा देखा जा सकता है। कुल मिलाकर सूर्य भगवान के प्रकोप और इन्द्रदेव की नाराजगी आम जनमानस परेशान हाल देखा जा सकता है।

निष्पक्ष और शांतिपूर्ण चुनाव कराएःआईजी
News source:  U.P.Samachar Sewa
Publised on :  14 June  2012, Time: 22 : 23

Fatehpur, 14 June  2012, UPSS , फतेहपुर, 14 जून।  (उप्रससे)।  नगर निकाय चुनाव को निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण ढंग से कराने एवं पुलिस की जनता के प्रति दायित्वों को निभाने को लेकर इलाहाबाद जोन के आईजी आलोक शर्मा ने पुलिस लाइन स्थित अतिथि गृह में पुलिस अधिकारियों एवं सिपाहियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि ईमानदारी के साथ पुलिस अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन करे। उन्होने नये रंगरूटों को उनके दायित्वों का बोध कराते हुए कहा कि पूरी ईमानदारी, लगन, मेहनत के साथ जनता के बीच अपने संवाद को ऐसा स्थापित करें कि जनता दोस्त बनकर हर मोर्चे पर पुलिस का साथ दे। उन्होने कहा कि जनता के प्रति र्सैद्धांतिक, मार्मिक, शिष्टाचारपूर्ण संवाद स्थापित कर उनके दिलों को जीते और अपराधों पर अंकुश लगाने मे अपनी महती भूमिका निभाये।
इलाहाबाद जोन के आईजी आलोक शर्मा ने आज शांतिपूर्ण एवं निष्पक्ष चुनाव कराने को लेकर पुलिस की तैयारियों की समीक्षा की और चुनाव सम्बन्धित निर्देश देते हुए कहा कि चुनाव को निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण ढंग से कराने के लिए अधिकारी एवं कर्मचारी पूरी कर्मठता, निष्ठा के साथ चुनाव ड्यूटी को अंजाम दे। चुनाव में गड़बड़ी एवं अराजकता पैदा करने वाले लोगो पर नजर रखे और उन पर अंकुश लगाने के लिए सख्त कार्यवाही को अंजाम में लाये। उन्होने कहा कि नगर निकाय चुनाव शहर एवं कस्बों में होते है। जहां पर स्थिति को बिगाड़ने एवं अपने पक्ष में मतदान को लेकर दबंग किस्म के प्रत्याशी कुछ भी कर सकते है। जिस पर नजर रखना पुलिस का प्रथम दायित्व है। उन्होने पुलिस को अपने दायित्वों का बोध कराते हुए कहा कि शांति व्यवस्था एवं समाज को अपराधमुक्त बनाने के लिए पुलिस की बड़ी भूमिका है।
श्री शर्मा ने नये रंगरूटों को जनता के प्रति अपने व्यवहार, आचरण एवं निष्ठा पर बल देते हुए कहा कि जनता के साथ शिष्टाचारपूर्ण संवाद स्थापित कर उनका दिल जीत लें। जिससे कि पुलिस के प्रति जनता की सोच में बदलाव आये। उन्होने पिकेट ड्यूटी, रात्रि गश्त, वाहन चेकिंग सहित चिन्हित चैराहों एवं स्थानों पर नजर रखने के कड़े निर्देश देते हुए कहा कि अपराध जहां से पनपता है। पुलिस को वहां पहुंचकर अंकुश लगाना चाहिए तभी अपराधियों को हौसले पश्त होंगे। इस मौके पर पुलिस अधीक्षक आरके चतुर्वेदी, अपर पुलिस अधीक्षक एसके सिंह, सीओ सिटी अजीत कुमार सिन्हा, सीओ खागा सूर्यकांत त्रिपाठी, सीओ बिंदकी, सीओ जाफरगंज, सीओ थरियांव, पुलिस अधिकारी सहित सभी थानों के थानाध्यक्ष एवं बड़ी संख्या में पुलिस के जवान मौजूद रहे।

पुलिस ने बचा ली तीन मजनुयों की जान
News source: U.P.Samachar Sewa
Publised on :  03 June  2012, Time: 22: 14

Fatehpur,  03 june  2012, हथगाम (फतेहपुर), 03 जून। हथगाम थाना क्षेत्र के रायपुर मुंआरी गांव में आशनाई के चक्कर में आये तीन मजनुओं को पुलिस ने अपनी हिरासत में न लिया होता तो तीनो मजनू ग्रामीणों के गुस्से का शिकार हो सकते थे। क्योकि गांव के लोग चारो तरफ एकत्र होकर आजिज आ चुके मजनुओं को सबक सिखाने का मन बना चुके थे।
दरअसल हथगाम थाना क्षेत्र के टिकरी गांव निवासी मो. रफीक का मुआरी गांव के एक घर में काफी समय से आना-जाना था। जहां पर वह संदिग्ध अवस्था में रहता था। इस घर में तीन जवान लड़कियां थी। युवक के अक्सर आने-जाने से गांव वाले मो. रफीक को अक्सर दिन में आता जाता देखा करते थे। लेकिन शनिवार को वह अपने दो साथियों इशरार अहमद तथा मो. नफीस पुत्रगण फकीर मोहम्मद निवासी सनगांव कोतवाली फतेहपुर को लेकर गांव आया और उसी घर में तीनों रूके हुए थे। तीनों युवकों की हरकतों से आजिज गांव वालों ने कुछ एतराज किया तो युवक और उस घर की लड़कियां गाली-गलौच करने लगी। इस बीच गांव के लोग उस घर तो नही गये लेकिन चारों तरफ लाठी-डंडो से लैस होकर बैठ गये और युवकों के निकलने का इंतजार करने लगे।
इसी बीच किसी ने इसकी सूचना हथगाम थानाध्यक्ष रामआसरे को दे दिया। जिस पर थानाध्यक्ष ने मामले को गंभीरता से लेते हुए आनन-फानन गांव पहुंचकर तीनो युवको को हिरासत में ले लिया। थानाध्यक्ष की सतर्कता के चलते तीनों युवको की जान बच गयी अन्यथा ग्रामीणो ने तीनों युवको को सबक सिखाने का मन बना लिया था। पुलिस हिरासत में आये युवको को ग्रामीण अपनी कस्टडी में लेने की बात पुलिस से कह रहे थे किन्तु कार्यवाही के आश्वासन पर ग्रामीणो ने युवको को थाने ले जाने के लिए राजी हुए। पुलिस ने तीनो युवको को धारा 109 के तहत जेल भेज दिया है।

भगवान बुद्ध की शिक्षा से ही होगा विश्व का कल्याण
सपा जिलाध्यक्ष एवं महामंत्री का अभिनंदन समारोह
पिता ने डांटा तो किशोरी ने खाया जहर, मौत
अनियंत्रित ट्रैक्टर पलटा, दो की मौत
बुद्ध जयंतीः भक्तों ने श्रद्धा-सुमन अर्पित कर किया नमन्
आम तोड़ने के विवाद में मासूम को गोली से उडाया

अबोध की हत्या करते वक्त नही कांपे हांथ

किशोरी को अपहृत कर रात भर किया बलात्कार
गरीबों के घरों पर बुलडोजर, सपाईयों के मकान महफूज
दबंगो ने एक ही परिवार के आधा दर्जन लोगो को पीटा
भ्रष्टाचार में डूबी सरकार को उखाड़ फेंकने के लिए जनता बेताब-मुलायम सिंह
http://www..nic.in
Official Website of

  

 
 
 
   
 
 
                               
 
»
Home  
»
About Us  
»
Matermony  
»
Tour & Travels  
»
Contact Us  
 
»
News & Current Affairs  
»
Career  
»
Arts Gallery  
»
Books  
»
Feedback  
 
»
Sports  
»
Find Job  
»
Astrology  
»
Shopping  
»
News Letter  
up-webnews | Best viewed in 1024*768 pixel resolution with IE 6.0 or above. | Disclaimer | Powered by : omni-NET